वापस जाये
प्रथम भाग:- राजस्व परिषद अधीन अधिष्ठान
क्रम विषय  परिषदादेश संख्या एवम दिनांक
मा0 न्यायालय आच्छादित सेवा प्रकरण सम्बन्धी कार्यवाहियाँ
1 मा0 उच्च न्यायालय एवं लोक सेवा अधिकरण  के समक्ष दायर रिट याचिका/निर्देश याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में । संख्या-21913-21989/12-427 ए/91,
दिनांक: 01-12-91
2 मा0 सर्वोच्च न्यायालय, उच्च न्यायालय तथा उ0प्र0 लोक सेवा अधिकरण, लखनऊ के समक्ष दायर की गई व लम्बित एस0एल0पी0, रिट याचिकाओं/निर्देश याचिकाओं से सम्बन्धित सूचनाओं व विवरण आदि का प्रेषण। संख्या-44/17-(विधि) दिनांक: 28-04-92
3 सेवा निवृत्त की आयु 58 वर्ष के उपरान्त लेखपाल पद पर सेवा में बने रहने हेतु मा0 उच्च न्यायालय, लखनऊ/इलाहाबाद में लम्बित रिट याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में। संख्या-200/विधि-17- 63(एफ)/92,
दिनांक: 16-06-92
4 सेवा निवृत्ति की आयु 58 वर्ष के उपरान्त लेखपाल पद पर सेवा में बने रहने हेतु मा0 उच्च न्यायालय लखनऊ/इलाहाबाद में लम्बित रिट याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में। संख्या-543/17 (विधि) 63 एल 92(4),
दिनांक: 04-05-93
5 सेवा निवृत्ति की आयु 58 वर्ष के उपरान्त लेखपाल/संग्रह अमीन पद पर सेवा में बने रहने हेतु मा0 उच्च न्यायालय लखनऊ/ इलाहाबाद में लम्बित रिट याचिकाओ की पैरवी हेतु । संख्या-35/17 (विधि)(5)/94, दिनांक: 12-01-94
6 अधिवर्षता आयु 58 वर्ष के उपरान्त लेखपाल पद पर सेवा में बने रहने हेतु मा0 उच्च न्यायालय, लखनऊ/इलाहाबाद के समक्ष दायर रिट याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में संख्या-92/17(विधि) 434(एल)/92(4) दिनांक: 27-01-94
7 छल-कपट द्वारा प्राप्त की गयी डिक्रियों के सम्बन्ध में मा0 उच्चतम न्यायालय द्वारा दिया गया निर्णय दिनांक 27-10-93।  संख्या-36/17-विधि, दिनांक: 13-01-94
8 मा0 न्यायालयों के निर्णयों/निर्देशों के अनुपालन के सम्बन्ध में । अ0शा0प0संख्या-966/ 17(विधि)-639(एल)/94, दिनांक: 30-12-94
9 मा0 न्यायालयों में दायर रिट याचिकाओं में प्रतिशपथ-पत्र समय से प्रस्तुत किया जाना । संख्या-968/17-विधि- 639(एल)/94, दिनांक: 30-12-94
10 सामयिक संगह्र अमीनों/चपरासियों द्वारा मा0 उच्च न्यायालय लखनऊ/इलाहाबाद में दाखिल रिट याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में । संख्या-74/17(विधि)-2 (एल)/95(2),
दिनांक: 28-01-84
11 सामयिक संगह्र अमीनों/चपरासियों द्वारा मा0 उच्च न्यायालय लखनऊ/इलाहाबाद में दाखिल रिट याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में। संख्या-1211/17 विधि- 2 (ए)एल/95(2), दिनांक: 26-10-95
12 मा0 न्यायालयों में लम्बित रिट याचिकाओं/निर्देश याचिकाओं की पैरवी के सम्बन्ध में । अ0शा0प0संख्या-160/17- विधि/639(एल)/95, दिनांक: 14-03-95
13 लम्बित रिट/निर्देश याचिकायों की दिसम्बर 1994 की स्थिति निर्धारित प्रारुप में उपलब्ध कराने तथा प्रभावी कार्यवाहीं हेतु निर्देश । संख्या-1118/17(विधि)- 639(एल)/94,
दिनांक: 06-09-95
14 मण्डल के जनपदों में मा0 उच्चतम न्यायालय/मा0 उच्च न्यायायल/ मा0 राज्य लोक सेवा अधिकरण में लम्बित प्रकरणों के सम्बन्ध में ।  अ0शा0प0संख्या-1128/ 17-विधि-639(एल)/94, दिनांक: 12-09-95
15 मा0 सर्वोच्च न्यायालय उच्च न्यायालय तथा राज्य लोक सेवा अधिकरण तक निर्णयों /निर्देशों का समय सीमा के अन्दर अनुपालन। अ0शा0प0संख्या-1169/ 17-र्वििध-639(एल)/94,
16 मा0 न्यायालयों के निर्णयों/निर्देश के अनुपालन के सम्बन्ध में । अ0शा0प0संख्या-83/ नि0स0-अध्यक्ष/17-विधि- 639(एल)/94, दिनांक: 06-02-96
17 मा0 उच्च न्यायालय में दायर रिट याचिकाओं में प्रतिशपथ-पत्र समय से प्रस्तुत न करने के फलस्वरुप उच्च न्यायालय द्वारा याची के पक्ष में निर्णय दिया जाना । संख्या-273/17(विधि)- 95(एल)(2), दिनांक: 08-05-96
18 मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा यह आधारित किया  गया है कि यद्यपि कोई कर्मचारी अधिवर्षता आयु प्राप्त करने के बाद भी सेवा में बना रहे, फिर भी वह इस बढ़ी हुई अवधि का वेतन, अवकाश, नकदीकरण, ग्रेच्युटी आदि पाने का अधिकारी नहीं तथा इनसे इस बढ़ी हुई अवधि के भुगतान की वसूली किया जाना नियम संगत है । अ0शा0पत्र संख्या-353- 436/17(विधि)269(एल)/94, दिनांक: 11-04-97
19 मा0 न्यायालयों में लम्बित रिट/निर्देश याचिकाओं की पैरवी तथा निर्णयों/निर्देशों के अनुपालन हेतु । संख्या-456/17-विधि -639(एल)/94, दिनांक: 19-04-97
20 मा0 उच्च न्यायालय, इलाहाबाद के समक्ष दायर रिट याचिकाओं के सम्बन्ध में उ0प्र0 राज्य सेवा अधिकरण के समक्ष वैकल्पिक व्यवस्था के रुप में वाद योजित किए जाने के सम्बन्ध में निर्देश । संख्या-819/17-विधि- 639(एल)/94, दिनांक: 24-09-97