न्यायिक कार्य से सम्बंधित महत्वपूर्ण परिषदादेश
क्र0सं0 विषय दिनांक
1 राजस्व न्यायालयों में अनिवार्यतः वाद के विवरण व बार कोड युक्त तथा राजस्व न्यायालय कम्प्यूटरीकृत प्रबंधन प्रणाली (RCCMS) जानित आदेश पत्रक (Order Sheet) का प्रयोग किये जाने संबंधी परिषदादेश दिनांक 08.11.2017 तथा न्यायिक कार्य के निस्तारण संबंधी परिषदादेशों का कड़ाई से अनुपालन किया जाने के संबंध में। (04.10.2018) 04.10.2018
2 रेवेन्यू कोर्ट मैन्युअल के प्रस्तर - 426 से 430 क द्वारा निर्धारित प्रक्रिया का अनुपालन सुनिश्चित कराने के सम्बन्ध में | 16.07.2018
राजस्व न्यायालयों में कैविएट पंजीकरण की ऑनलाइन(Online) सुविधा के सम्बन्ध में| 19.03.2018
4 राजस्व वादों के त्वरित निस्तारण के संबंध में निर्देश। 09.02.2018
5 मा0 न्यायालय राजस्व परिषद इलाहाबाद एवं राजस्व परिषद लखनऊ के मध्य कार्य विभाजन के सम्बन्ध में विज्ञप्ति । 29.12.2017
6 पांच वर्ष से अधिक अवधि के लम्बित राजस्व वादों के त्वरित निस्तारण के सम्बन्ध में। 20.12.2017
7 प्रदेश के राजस्व न्यायालयों में लम्बित वादों का समयबद्ध व् गुणवत्तापूर्वक निस्तारण किये जाने के सम्बन्ध में। 14.12.2017
8 प्रदेश के राजस्व न्यायालयों में लम्बित पुनर्स्थापना प्रार्थना पत्रों ( Restoration applications ) को दैनिक वाद तालिका ( Daily Cause List ) में प्रदर्शित किये जाने व उन पर त्वरित निर्णय लिए जाने के सम्बन्ध में। 14.12.2017
9 राजस्व न्यायालयों में अनिवार्य रूप से वाद के विवरण व बार कोड युक्त आदेश पत्रक (Order Sheet) का प्रयोग किये जाने के सम्बन्ध में। 08.11.2017
10 अहस्तान्तरणीय भूखण्डों / गाटों (जिनका हस्तांतरण नहीं किया जा सकता) के अनियमित विकय एंव उससे सम्बन्धित चल रहे नामान्तरण वादों के सम्बन्ध में। 10.10.2017
11 राजस्व वादों के निस्तारण में मौखिक बहस की अनिवार्यता तथा वाद के एकपक्षीय (Ex Parte) होने उसके पुनस्र्थापन (Restoration)] वापसी (Recall)] व पुनर्विलोकन (Review) के सम्बन्ध में। 06.10.2017
12 उ0प्र0 भू-राजस्व अधिनियम-1901 की धारा -33/39 व राजस्व संहिता -2006 की धरा-32 /38 के अन्तर्गत अभिलेखें का शुद्वीकरण समयबद्ध ढंग से किये जाने के सम्बन्ध में। 06.10.2017
13 (क) राजस्व वादों के समयबद्ध निस्तारण हेतु तिथि निर्धारण सम्बन्ध में | 10.10.2017
  (ख) राजस्व वादों के समयबद्ध निस्तारण हेतु तिथि निर्धारण सम्बन्ध में | 22.09.2017
14 पैमाइश सम्बन्धी वादों का समयबद्ध निस्तारण किये जाने के सम्बन्ध में | 19.09.2017
15 पक्षकार वाद में प्रभावित / हितबद्ध है अथवा नहीं तथा वाद /आपत्ति प्रस्तुत करने हेतु उनका Locus Standi है अथवा नहीं “ के सम्बन्ध में । 13.09.2017
16 राजस्व वादों के निस्तारण की पत्रावलियों के सम्बन्ध में दिशा - निर्देश । 12.09.2017
17 राजस्व ग्रामों में निर्विवाद उत्तराधिकार को खतौनी में दर्ज कराये जाने हेतु अभियान। 14.08.2017
18 उ0प्र0 राजस्व संहिता 2006 यथा संशोधित 2016 की धारा 31 (2) के अनुरूप खतौनी पुनरीक्षण व खतौनी सहखातेदारों के गाटों में अंश का निर्धारण का कार्यक्रम के सम्बन्ध में। 02.06.2017  
19 राजस्व न्यायालयों में योजित वादों के निस्तारण के संदर्भ में जारी परिषदादेश 26.05.2017   
20 राजस्व ग्रामों मे ग्राम पंचायत/सार्वजनिक भूमि/सम्पत्ति से अतिक्रमण हटाने व भूमाफियाओं के विरूद्ध राजस्व संहिता में दिये गये विधिक प्राविधानों के अन्तर्गत किये जाने वाले कार्यवाही के सम्बन्ध में। 08.05.2017
21 श्रीमती पार्वती बनाम चमोलिया आदि (वाद के रेस्टोरेशन के संदर्भ में पुर्नस्थापन/पुर्नविचार/ द्वितीय निगरानी के संदर्भ में निर्देशक वाद के क्रम में जारी परिषदादेश) 30.03.2017
22 पाचं वर्ष से अधिक अवधि के लम्बित राजस्व वादों के समयबद्ध निस्तारण के सम्बन्ध में । 15.03.2017
23 राजस्व वादों में अनावश्यक रूप से सामान्य तिथियां नियत न किये जाने एवम वादों का त्वरित/समयबद्ध निस्तारण किये जाने के सम्बन्ध में। (08.03.2017) 08.03.2017
24 राजस्व परिषद द्वारा उ0 प्र0 द्वारा न्यायिक अभिलेखों की प्रमाणित सत्यापित प्रतिलिपि निर्गत किये जाने सम्बन्धी 22.07.2016
25 अवर न्यायालय के मूल अभिलेखों को मंगाने हेतु मांग पत्रों का आनलाइन प्रेषण 25.02.2016
26 अवर न्यायालयों के अभिलेख वापस किये जाने के सम्बन्ध में । 09.12.2015